नकरात्मकता को छोड़े Hindi Story,

मनीषा त्रिवेदी (बिहार)
━━━━━━━━━━━━━━━━

नैतिकता के शिक्षक ने छात्रों से पूछा-
अगर आपके पास 86,400 रुपये है और कोई भी लुटेरा 10 रुपये छिनकर भाग जाए तो आप क्या करेंगे?

क्या आप उसके पीछे भागकर लुटे हुवे 10 रुपये वापस पाने की कोशिश करोगे? या आप अपने बचे हुवे 86,390 को हिफाज़त से लेकर अपने रास्ते पर चलते रहेंगे?

कक्षा के कमरे में बहुमत ने कहा कि हम 10 रुपये की तुच्छ राशि की अनदेखी करते हुए अपने बचे हुवे पैसा लेकर अपने रास्ते पर चलते रहेंगे।

https://www.anabizcollection.com/product-category/army-store/

शिक्षक ने कहा: “आप लोगों का सत्य और अवलोकन सही नहीं है। मैंने देखा है कि ज्यादातर लोग 10 रुपये वापस लेने की फ़िक्र में चोर का पीछा करते हैं और परिणाम के रूप में, उनके बचे हुए 86,390 रुपये भी हाथ से धो बैठते हैं।

शिक्षक को देखते हुए छात्र हैरान होकर पूछने लगे “सर, यह असंभव है, ऐसा कौन करता है?”

शिक्षक ने कहा! “ये 86,400 वास्तव में हमारे दिन के सेकंड में से एक हैं।
10 सेकंड की बात लेकर, या किसी भी 10 सेकंड की नाराज़गी और गुस्से में, हम बाकी के पुरे दिन को सोच,कुढ़न और जलने में गुज़ार देते हैं और हमारे बचे हुए 86,390 सेकंड भी नष्ट कर देते हैं।

नकारात्मक चीज़ों को अनदेखा करें। ऐसा न हो कि चन्द लम्हे का गुस्सा, नकारात्मकता आपसे आपके सारे दिन की ताज़गी और खूबसूरती छीनकर ले जाए

साथ ही प्रभु/ईश्वर/गुरु पर सम्पूर्ण विश्वास रखे-
भूख के कारण बच्चा रो रहा है,मां के हाथ में बोतल है फिर भी वह उसको दूध नहीं दे रही क्योंकि मां को पता है कि दूध की बोतल में दूध अभी गर्म है अभी देना ठीक नहीं होगा । यही हमारे जीवन में होता है हम अपने गुरु जी से मांगते हैं पर जब हमे नहीं मिलता तो हम निराश होते हैं हमारे गुरु जी को पता है कि कौन सी चीज हमें कब देनी है जिस तरह मां को पता है दूध अभी गर्म है अभी दूंगी तो मुंह जल जाएगा इसी तरह आप भी अपने गुरु पर विश्वास रखें वह आपकी हर ख्वाइश टाइम आने पर जरूर पूरी करेंगे।

संस्कारों की डोर को मजबूत बनाये रखिये,

🙏 सदैव प्रसन्न रहें 🙏

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! अपनी प्रतिक्रियाएँ हमें बेझिझक दें

▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬
यदि आपके पास हिंदी में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप anabiz story में ग्रुप के साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपने नाम और जानकारी के साथ E-mail करें. हमारी Id है:support@anabizcollection.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम के साथ यहाँ सुनहरे पन्ने ग्रुप में शेयर करेंगे. धन्यवाद !
━━━━━━━━━━━━━━━━
अगर आपको ये Article पसन्द आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ Whats app, Facebook आदि पर शेयर जरूर करिएगा। आपके प्यार व सहयोग के लिए आपका बहुत-2 धन्यवाद।

 DONATE SOME MONEY TO THIS BLOG AND CREATORS

नारद का अभिमान Hindi Story

0
Open chat